Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

राहुल गाँधी ने कहा,सरकार जारी करे आपातकाल राशनकार्ड

 

उल्लेखनीय है कि रोजाना काम करके भोजन की व्यवस्था करने वाले गांव के असंगठित कामगार, दिहाड़ी मजदूर व छोटे दुकानदारों लॉक डाउन के कारण परिवार व भरण पोषण करने में काफी कठिनाई उठानी पड़ रही है। छोटे-छोटे ठेला चलाने वाले, खोमचे वाले तथा दिहाड़ी मजदूरों का काम धंधा पूरी तरह से चौपट है। मजदूरों को काम भी नही मिल रहा है।

Advertisement

 

नई दिल्ली:लॉक डाउन के दरम्यान लोगों खासकर गरीबों को हो रही परेशानियों से फिक्रमंद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने सरकार से बड़ी अपील की है।राहुल गांधी ने इस सिलसिले में ट्वीट किया है।उन्होंने अपने ट्वीट में कहा को हम सरकार से अपील करते हैं कि इस संकट में आपातकाल राशन कार्ड जारी किए जाएँ।ये उन सभी के लिए हों जो इस लॉकडाउन में अन्न की कमी से जूझ रहे हैं।लाखों देशवासी बिना राशन कार्ड के PDS का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं।अनाज गोदाम में सड़ रहा है जबकि सैकड़ों भूखे पेट इंतज़ार कर रहे हैं।अमानवीय!
उल्लेखनीय है कि रोजाना काम करके भोजन की व्यवस्था करने वाले गांव के असंगठित कामगार, दिहाड़ी मजदूर व छोटे दुकानदारों लॉक डाउन के कारण परिवार व भरण पोषण करने में काफी कठिनाई उठानी पड़ रही है। छोटे-छोटे ठेला चलाने वाले, खोमचे वाले तथा दिहाड़ी मजदूरों का काम धंधा पूरी तरह से चौपट है। मजदूरों को काम भी नही मिल रहा है। लॉकडाउन के पहले जहां दिहाड़ी मजदूर पहले 250 से 300 रुपये तक कमा लेते थे। परंतु अब हालत यह है कि उनके पास पैसे तक की किल्लत है। ताकि परिवार के लिए भोजन का प्रबंध भी कर सके। लोगों का कहना है कि कोरोना संकट जल्द से जल्द दुर हो ताकि जन जीवन पुनः पटरी पर आ सके। कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन के के वजह से सबसे ज्यादा परेशानी वैसे गरीबों को उठानी पड़ रही है जो रोजाना कामा कर खाते हैं। ऐसे में निम्न मध्यम वर्गीय परिवार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Advertisement

Related posts

गैस उपभोक्ताओं की बल्ले बल्ले,महज 700 रुपये में मिलेगा नया LPG सिलेंडर लेकिन…

Nationalist Bharat Bureau

राबड़ी देवी, सैयद फैसल अली समेत महागठबंधन के 5 प्रत्याशियों ने नामांकन का पर्चा दाखिल किया

आखिर सुप्रीम कोर्ट ने असम और मेघालय के सीमा समझौते को आगे बढ़ाने की इजाजत दी

cradmin

Leave a Comment