Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

बिहार के मदरसा और संस्कृत विद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों को पेंशन देने की मांग

पटना(प्रेस विज्ञप्ति):बिहार मदरसा शिक्षक संघ के महासचिव सैयद मोहिब्बुल हक़ और बिहार संस्कृत शिक्षक संघ के महासचिव पंडित शोभा कांत झा ने मुख्यमंत्री बिहार श्री नीतीश कुमार,उपमुख्यमंत्री श्री सुशील कुमार मोदी और शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा को प्रेषित पत्र में राज्य के गैर सरकारी सहायता प्राप्त मदरसा और संस्कृत विद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को हरियाणा और झारखंड सरकार के द्वारा दी जा रही पण्डित दीनदयाल उपाध्याय मानदेय योजना की भांति पेंशन दिलाने का आग्रह किया है।संघ के नेताओं ने अपने पत्र में कहा है कि हरियाणा सरकार ने पण्डित दीनदयाल उपाध्याय मानदेय योजना के तहत राज्य के सेवानिवृत्त शिक्षकों को जुलाई 1988 के प्रभाव से क्रमशः 20000, 18000,16000,14000,11000 और 6000 प्रति माह पेंशन देने का फैसला किया है।संघ के नेताओं का कहना है कि बिहार के हज़ारो शिक्षक ऐसे हैं जिन्होंने ईमानदारी पूर्वक अपना कर्तव्य निर्वहन किया और सेवानिवृत्त तो हो गए लेकिन उन्हें अपना जीवन यापन करने में कठिनाइयों का सामना है या दूसरे पर निर्भर हैं।ऐसे में राज्य सरकार से अपील और अनुरोध है कि बिहार के मदरसा और संस्कृत विद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को भी हरियाणा और झारखंड सरकार की तरह पेंशन देने की कृपा की जाए।

Advertisement

Related posts

सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट भी अडानी के हवाले,सरकार का समझौता भी अजीबोगरीब

उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया

नीतीश कुमार ने बिहार का सत्यानाश कर दिया:अजय आलोक

Leave a Comment