Nationalist Bharat
Other

बिहार राज्य शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष बने सैयद अफ़ज़ल अब्बास

  • पटना में एम्स और पारस की तरह इमाम हुसैन अस्पताल और बीएड कॉलेज का निर्माण कराने का ज़ाहिर किया इरादा
  • वक्फ बोर्ड की जायदाद गबन करने वालों को कानून के दायरे में लाकर सख्त कार्रवाई की चेतावनी

 

पटना:शिया वक़्फ़ बोर्ड को नया अध्यक्ष मिल गया है।राजधानी के हज भवन के सभागार में गुरुवार को बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ।अधिवक्ता शहनाज फातिमा, सैयद अमानत हुसैन, सैयद आसिफ इमाम, सैयद गुलाम हुसैन, मिर्जा आरिफ रजा, सैयद इसरार हुसैन की सदस्यता वाली समिति ने सर्वसम्मति से सैयद अफ़ज़ल अब्बास को बोर्ड का अध्यक्ष चुन लिया।इस अवसर पर बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड की गठित सात सदस्यीय टीम के साथ अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अपर सचिव आमिर सुबहानी रिटर्निग अफसर के तौर पर मौजूद रहे।सात सदस्यीय टीम में शामिल अफजल अब्बास ने अध्यक्ष पद के लिए अपना नाम रखा। अधिवक्ता शहनाज फातिमा, सैयद अमानत हुसैन, सैयद आसिफ इमाम, सैयद गुलाम हुसैन, मिर्जा आरिफ रजा, सैयद इसरार हुसैन ने समर्थन किया। इसके बाद अफजल अब्बास को पांच वर्षो के लिए बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड का 22वां निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिया गया।अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद अपने आगामी रणनीति और कार्यों को बताते हुए अफ़ज़ल अब्बास ने कहा कि समाज और गरीबों के कल्याण के लिए शिया वक्फ बोर्ड बना है। उनकी पहली प्राथमिकता होगी कि पटना में एम्स और पारस की तरह इमाम हुसैन अस्पताल बनाया जाए ताकि आम लोगों को इलाज के लिए बेहतर सुविधाएं मिल सके।उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार की मदद ली जाएगी। शिक्षा के लिए बोर्ड बीएड कॉलेज का भी निर्माण कराएगा।साथ ही उन्होंने कहा कि वक्फ बोर्ड की जायदाद गबन करने वालों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा। कानून के दायरे में ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

Related posts

बिहार में अगले पांच दिनों तक ठंड, घने कोहरे से राहत के कोई आसार नहीं

प्रशांत किशोर ने की एक हफ़्ते के राष्ट्रीय लॉकडाउन की वकालत

संजय राउत ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का लगाया आरोप

Leave a Comment