Nationalist Bharat
Other

बिहार दैनिक यात्री संघ ने निकाला आक्रोश मार्च

आक्रोश मार्च में सैंकड़ों की संख्या में बिहार दैनिक यात्री संघ के कार्यकर्ता शामिल रहे,उनकी प्रमुख मांग थी कि रेलवे का निजीकरण बंद किया जाय, कोरोना काल से पूर्व चल रही सभी गाड़ियों का अविलंब परिचालन शुरू किया जाय

 

Advertisement
पटना- रेलवे के निजीकरण के खिलाफ, कोरोना पूर्व रूक रही ट्रेनों के ठहराव को पुनर्बहाल करने, पुरे बिहार में रेगुलर डेमू-मेमू ट्रेन को जल्द चलाने की मांग को लेकर शुक्रवार को बिहार दैनिक यात्री संघ ने महावीर मंदिर से पटना जं पूछताछ कार्यालय के तक आक्रोश मार्च निकाला संघ के अध्यक्ष विरेन्द्र प्रसाद शर्मा के नेतृत्व में निकाले गये आक्रोश मार्च में सैंकड़ों की संख्या में बिहार दैनिक यात्री संघ के कार्यकर्ता शामिल रहे उनकी प्रमुख मांग थी की रेलवे का निजीकरण बंद किया जाय, कोरोना काल से पूर्व चल रही सभी गाड़ियों का अविलंब परिचालन शुरू किया जाय,जितनें भी स्टेशनों से कोरोना बाद ट्रेनों के ठहराव हटाये गए हैं उसे अविलंब पुनर्बहाल किया जाय,रेगुलर सवारी ट्रेनों (मेमू-डेमू) का रेगुलर जल्द परिचालन शुरू किया जाय. आक्रोश मार्च में आम यात्रियों ने बढ चढ़ कर हिस्सा लिया.आक्रोश मार्च में, मंजुल कुमार दास, महासचिव नंदकिशोर प्रसाद, सचिव शोएब कुरैशी, संयुक्त सचिव के बी राय, महेन्द्र प्रसाद, विजय कुमार सिंह, अवध बिहारी पाण्डेय, रविंद्र सिंह, राज किशोर राय, राज कुमार झा, निरंजन सिंह, उमेश प्रसाद, सोहैल बाबु, नवीन सिन्हा, श्याम बिहारी श्रीवास्तव, राम बालक पासवान, संजीत कुमार सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहे और अंत में संघ के अध्यक्ष श्री विरेन्द्र प्रसाद वर्मा,  महासचिव नंदकिशोर प्रसाद एवं मंजुल कुमार दास के नेतृत्व में पटना जं० के स्टेशन निदेशक डॉ निलेश कुमार को ज्ञापन सौंपा गया . आक्रोश मार्च की सफलता पर संघ सभी पदाधिकारियों ने सभी कार्यकर्ता एवं आम लोगों का आभार प्रकट किया. अंत में धन्यवाद ज्ञापन बीरेंद्र प्रसाद शर्मा ने किया।

Related posts

ज़ाकिर के गुलाब

शशिरंजन यादव बनाये गए पटना टाउन कांग्रेस अध्यक्ष

अब नवजात बच्चों का भी बन सकता है आधार कार्ड

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment