Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

सिंह गर्जना रैली को सफल बनाने के लिए ‘फ्रेंड्स ऑफ आनंद’ ने झोंकी ताक़त

पूर्व सांसद श्रीमती लवली आनंद के पाटलिपुत्र आवास पर तैयारियों को लेकर महत्वपूर्ण बैठक,विधायक चेतन आनंद ने कहा कि रैली होगी ऐतिहासिक

 

Advertisement

पटना:’सिंह गर्जना रैली’ की अभूतपूर्व सफलता सुनिश्चित करने हेतु ‘फ्रेंड्स ऑफ आनंद’ के तत्वावधान में एक महत्वपूर्ण बैठक पूर्व सांसद श्रीमती लवली आनंद के पाटलिपुत्र आवास पर संपन्न हुई। बैठक में ,’फ्रेंड्स ऑफ आनंद’ के अलावा झारखंड-बिहार के विभिन्न राजनीतिक-समाजिक संगठनों के कार्यकताओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया।बैठक में सर्वसम्मति से पूर्व सांसद लवली आनंद को स्वागत समिति के अध्यक्ष , कुलानंद ‘अकेला’ को आभियान समिति के अध्यक्ष , ठाकुर उदय को प्रचार समिति के अध्यक्ष एवं अमिताभ गुंजन ‘चुन्नू’ को मीडिया सेल के प्रभारी की जिम्मेवारी सौंपी गई। सभी कमिटियों में अन्य ग्यारह-ग्यारह वरीय लोगों को सदस्य बनाया गया।बैठक में चार टीमों का गठन कर आगामी 2 जनवरी 2022से झारखंड के पांच और बिहार के सभी प्रमंडलों के दौरे के प्रोग्राम तय किए गए।उसके बाद बिहार के सभी जिलों में गांव स्तर पर तीन- तीन दिनों के कार्यक्रम तय किए गए और यह फ़ैसला हुआ कि जनवरी के अंतिम सप्ताह सभी टीमें पटना के 50 कि.मी.इर्द-गिर्द में यथा – राघोपुर, फतुहा, बाढ़, बिहटा, बड़हरा, अरवल, मसौढ़ी, लालगंज, सोनपुर, पटना महानगर में पूरी शक्ति केंद्रित करेंगी।

विचार विमर्श करते फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ता

इस अवसर पर पूर्व सांसद लवली आनंद ने बताया कि मैं स्वयं रैली का न्योता लेकर लगभग आधा भारत घूम आई हूं।महाराष्ट्र और झारखंड जाना अभी शेष है। नए साल के प्रथम सप्ताह में निमंत्रण लेकर वहां भी जाऊंगी।उन्होंने आशा व्यक्त की कि 29 जनवरी 2022 को देशभर से बड़ी तादाद में पटना में आनंद समर्थकों का जुटान होगा। आनंद मोहन जी के साथ हो रहे अन्याय को लेकर जहां लोगों में रोष है ,वहीं ‘सिंह गर्जना रैली’ को लेकर काफी उत्साह है।रैली के संयोजक विधायक चेतन आनंद ने विश्वास दिलाया कि रैली कई मामलों में ऐतिहासिक होगी। यह मुख्यतः तीन मांगों को लेकर होने जा रही है ।पहली ये कि बिहार सरकार अपने वादे के मुताबिक राजधानी पटना के मुख्य चौराहे पर महाराणा प्रताप की अश्वारोही प्रतिमा स्थापित करे।दूसरी ये कि प्रताप स्मृति भवन के लिए जमीन आवंटित करे और उनकी जयंती पर एक दिवसीय अवकाश घोषित करे।तीसरी ये कि पूर्व सांसद आनंद मोहन को ससम्मन रिहा करे।

Advertisement
बैठक में शामिल विधायक चेतन आनंद और अन्य

श्रीमती लवली आनंद ने बताया कि उस रोज हम वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के आज़ादी और स्वाभिमान के महान संघर्ष के साथियों दानवीर भामाशाह, सेनापति हकीम खां ‘सूरी’ और भील सरदार राणा ‘पूंजा’ को भी पूरी शिद्दत से विनम्र श्रद्धांजलि पेश करेंगे।’फ्रेंड्स ऑफ आनंद’ के प्रदेश अध्यक्ष कुलानंद ‘अकेला’ की अध्यक्षता में चली इस बैठक को संगठन की राष्ट्रीय महासचिव एडवॉकेट सुरभि आनंद, प्रांतीय उपाध्यक्ष चंद्रभानू शाह, आले अहमद खान, युवाध्यक्ष श्री अमिताभ गुंजन ‘चुन्नू,भाई श्याम किशोर जी, बुच्ची गुप्ता, जेपी ठाकुर, जीवेश जी, पवन राठौर, दीपक कु. सिंह,अरुण सिंह ,संतोष सिंह, बच्चा सिंह,निशांत कुमार,संजीव, राँची से गोपाल सिंह, बोकारो से चुन्नू राजीव, धनावद से अजय सिंह, इस्तियाक अहमद, करणी सेना के पप्पू सिंह, गौरव, क्षत्रिय महासभा से राणा जी, विंध्यवासिनी कुंवर,बीर बहादुर यादव, रूबी सिंह, अजय कुमार ‘बबलू’, अनिल कुशवाहा, रोहिणदास, दिनेश मुखिया, पवन रजक, संजीव कुमार ‘पप्पू’, मुकेश,वीणा वर्मा, आदि ने मुख्य रूप से संबोधित किया।बैठक के अंत में फ्रेंड्स ऑफ आनंद के स्तंभ रहे स्व.तिरपित बाबू(गया), रविंद्र बाबू ‘मास्टर साहब'(सुपौल), अनिता कुशवाहा (सहरसा) और विजय पहलवान(मुंगेर) को 2 मिनट का मौन रखकर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।

Advertisement

Related posts

देश में अभी तक ‘ओमीक्रोन’ के 213 मामले आए सामने

Nationalist Bharat Bureau

अमृतकाल में हमें भारत को विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में ऊचाईयों तक ले जाना है:PM मोदी

Nationalist Bharat Bureau

वर्चुअल रैली को सफल बनाने के लिए शिवहर कांग्रेस ने झोंकी ताक़त,15 जगहों पर बनाया गया पॉइंट

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment