Nationalist Bharat
Other

ग्रेजुएट चाय वाली मचा रही है धमाल,धूम मचा रही है चाय

पटना:आरा और पटना के आईआईटियन चाय वाले की चर्चा के बाद अब पटना में ग्रेजुएट चाय वाली की चर्चा हो रही है पटना के वी वी आई पी इलाके बेली रोड पर घटना को विमेंस कॉलेज के ठीक सामने एक ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका गुप्ता इस वक्त इंटरनेट पर छाई हुई है। केवल 7 दिन में ही प्रियंका की दुकान चल पड़ी है और वह अपनी दुकान को विस्तार देने पर विचार कर रही हैं। खास बात यह है कि प्रियंका ने जब अपनी दुकान खोलने की सोची थी तब उसके पास सूजी के नाम पर कोई भी पैसा नहीं था। दो भाइयों में बड़ी 24 साल की प्रियंका इनमें वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से 2019 में अर्थशास्त्र में स्नातक किया। मूल रूप से पूर्णिया जिले के बनमनखी की रहने वाली प्रियंका ने पढ़ाई करने के बाद कई साल तक प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करें। मेहनत के बावजूद परीक्षा में लगातार असफलता के बाद प्रियंका ने हिम्मत नहीं हारी और अपने गांव वापस जाने के बजाए पटना में चाय का ठेला लगाकर आत्म निर्भर बनने की कोशिश की और इस रास्ते को अपनी कामयाबी के लिए चुना। पटना विमेंस कॉलेज की छात्राओं के बीच मशहूर ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका ने बताया कि उसे एमबीए चायवाला प्रफुल्ल बिलोर का वीडियो देखने के बाद चाय बेचने का आइडिया आया। प्रियंका का कहना है कि अपने जीवन में कुछ अलग करने की ठानी हो और उस लक्ष्य को हासिल करते हुए आगे बढ़ते हैं तो आपको मंजिल अवश्य मिलती है वाराणसी से लौटने के बाद 30 जनवरी 2022 को पटना आई यहां आने के बाद उसने जल्द से जल्द दुकान खोलने की सूची। शहर के कई दुकानों पर गई। वहां जाकर प्रियंका ने चाय कैसे बनाई जाती है इसका ज्ञान हासिल किया। प्रियंका ने बताया कि दुकान खोलने के लिए उसके पास जरूरी पैसे नहीं थे उसने इस काम के लिए कई बैंकों से लोन लेने का प्रयत्न किया टांके प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत उसे पैसे मिल जाए और वह अपना कारोबार शुरू कर सके लेकिन किसी भी बैंक ने प्रियंका को आत्मनिर्भर बनने के इस मिशन में कोई मदद नहीं की। थक हार कर प्रियंका गुप्ता ने अपने दोस्तों से मदद ली और उन्हें दोस्तों से मिले ₹30000 की मदद से 11 अप्रैल 2022 को उसने पटना विमेंस कॉलेज के पास चाय की अपनी दुकान खोल ली। प्रियंका के अनुसार उसकी चाय की दुकान के ज्यादातर ग्राहक विमेंस कॉलेज की छात्राएं हैं जो न सिर्फ चाय पी कर हमारा सपोर्ट करती हैं बल्कि हमें हौसला भी देती हैं। वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का सपोर्ट है क्या मैं आज अपनी दुकान चला रही हूं जिसका चारों तरफ चर्चा है।

 

Advertisement

पंचलाइन लगाया “पीना ही पड़ेगा” और “सोच मत चालू कर दे बस।”
ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका की चाय की दुकान पर विभिन्न किस्म की चाय मिल रही है जैसे कुल्हड़ चाय मसाला चाय पान चाय और चॉकलेट चाय। एक कप चाय की कीमत मात्र 15 से ₹20 है। प्रियंका ने अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए एक नए तरीके का नुस्खा आजमाया है। प्रियंका ने अपने चाय के ग्राहकों को चाय दुकान तक लाने के लिए एक बड़ा ही दिलचस्प पंच लाइन का इस्तेमाल किया है जैसे “पीना ही पड़ेगा” और “सोच मत चालू कर दे बस।”

Advertisement

Related posts

आरक्षण की सीमा 80% होना चाहिए: मुस्लिम मोर्चा

Nationalist Bharat Bureau

नए पोस्टर में रणबीर कपूर का बिंदास लुक वायरल

आईआईटी की तरह भारत के सभी निजी विद्यालयों को केंद्र सहायता दे:शमायल अहमद

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment