Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

BIS Recruitment 2022: भारतीय मानक ब्यूरो में 337 पदों पर भर्तियां,उम्मीदवार ऐसे करें आवेदन

नई दिल्ली:अपनी पढ़ाई लिखाई पूरी करके नौकरी का सपना देखने वाले युवा वर्ग के लिए एक खुशखबरी का ध्यान आया है। यह गुड न्यूज़ केंद्र सरकार के अधीन काम करने वाली संस्था भारतीय मानक ब्यूरो में आए हैं। यहां ग्रुप ए ग्रुप बी और ग्रुप सी के खाली पड़े पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया है। इन पदों पर आवेदन देने के इच्छुक योग्य उम्मीदवार रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। नौकरी के लिए आवेदन देने की प्रक्रिया 19 अप्रैल से ही प्रारंभ हो चुकी है। विस्तृत जानकारी के लिए उम्मीदवार संस्थान की ऑफिशियल वेबसाइट www.bis.gov.in पर जाकर 9 मई 2022 तक अपने आवेदन दे सकते हैं।
अधिसूचना के मुताबिक कुल 337 रिक्त पदे पदों को भरा जाएगा। इन पदों में ग्रुप ए के डायरेक्टर व असिस्टेंट डायरेक्टर के पद जबकि ग्रुप बी के पर्सनल असिस्टेंट और असिस्टेंट सेक्शन ऑफिसर और ग्रुप सी के पलंबर फिटर स्टेनोग्राफर इलेक्ट्रिशियन जैसे पदों पर बहाली होगी।
योग्यता
अलग-अलग पदों के लिए मांगे गए आवेदन में मैट्रिक से लेकर मास्टर डिग्री तक की शैक्षणिक योग्यता मांगी गई है।
शुल्क
नौकरी के लिए आवेदन करने वालों को आवेदन शुल्क के रूप में ₹500 और असिस्टेंट डायरेक्टर के पदों के लिए ₹800 का भुगतान करना होगा। अभ्यर्थी अपना शुल्क 9 मई 2022 तक जमा कर सकते हैं। इन पदों पर बहाली के लिए लिखित टेस्ट लिया जाएगा जब के परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी। संस्थान की ओर से जारी की गई अधिसूचना में ही परीक्षा के सिलेबस और परीक्षा के पैटर्न की विस्तृत जानकारी दी गई है। अगर बात की जाए उम्र सीमा की तो इस नौकरी के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 45 साल जब के अधिकतम उम्र सीमा 50 साल निर्धारित की गई है। आरक्षण श्रेणी के उम्मीदवारों को उम्र की सीमा में छूट दी गई है।

भारतीय मानक ब्यूरो क्या है?
बीआईएस भारत का राष्ट्रीतय मानक निकाय है जिसकी स्था‍पना बीआईएस अधिनियम 2016 के अंतर्गत की गई। बीआईएस की स्था्पना वस्तु ओं के मानकीकरण, मुहरांकन और गुणता प्रमाणन गतिविधियों के सुमेलित विकास तथा उससे जुडे़ याउससे प्रसंगवश जुड़े मामलों के लिए की गई। बीआईएस मानकीकरण, प्रमाणन और परीक्षण द्वारा राष्ट्री य अर्थव्यमवस्थात को प्रत्यक्ष एवं वास्तनविक रूप से कई तरह से लाभ पहुंचा रहा है –यह सुरक्षित विश्‍वसनीय गुणता वाले उत्पाद प्रदान करता है; उपभोक्‍ताओं के स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम को न्‍यून करता है; निर्यात एवं आयात विकल्‍पों को प्रोत्‍साहित करता है; किस्‍मों के प्रसार को नियंत्रित करता है इत्‍यादि, इत्‍यादि।
स्थापना
बीआईएस भारत का राष्ट्रीतय मानक निकाय है जिसकी स्था‍पना बीआईएस अधिनियम 2016 के अंतर्गत की गई। बीआईएस की स्था्पना वस्तु ओं के मानकीकरण, मुहरांकन और गुणता प्रमाणन गतिविधियों के सुमेलित विकास तथा उससे जुडे़ याउससे प्रसंगवश जुड़े मामलों के लिए की गई। बीआईएस मानकीकरण, प्रमाणन और परीक्षण द्वारा राष्ट्री य अर्थव्यमवस्थात को प्रत्यक्ष एवं वास्तनविक रूप से कई तरह से लाभ पहुंचा रहा है –यह सुरक्षित विश्‍वसनीय गुणता वाले उत्पाद प्रदान करता है; उपभोक्‍ताओं के स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम को न्‍यून करता है; निर्यात एवं आयात विकल्‍पों को प्रोत्‍साहित करता है; किस्‍मों के प्रसार को नियंत्रित करता है इत्‍यादि, इत्‍यादि।
बीआईएस के कार्य
◆मानक निर्धारण
◆उत्पानद प्रमाणन योजना
◆अनिवार्य पंजीकरण योजना
◆विदेशी निर्माता प्रमाणन योजना
◆हॉलमार्किंग योजना
◆प्रयोगशाला सेवाएं
◆प्रयोगशाला मान्ययता योजना
◆भारतीय मानकों की बिक्री
◆उपभोक्ता मामले गतिविधियां
◆प्रोत्सातहन गति‍विधियां
◆राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तंर की प्रशिक्षण सेवाएं
◆सूचना सेवाएं

Advertisement

अन्य जानकारी
बीआईएस का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके 5 क्षेत्रीय कार्यालय कोलकाता (पूर्व), चेन्नई (दक्षिण), मुंबई(पश्चिम), चंडीगढ़ (उत्तर) और दिल्ली (मध्य) में स्थित है। इन क्षेत्रीय कार्यालयों के अधीन शाखा कार्यालय हैं। ये कार्यालय हैं अहमदाबाद, बेंगलूरू, भुवनेश्वर, भोपाल, चंडीगढ़, चेन्नई, कोयम्बत्तूर, देहरादून, जम्मूश, फरीदाबाद, गाजियाबाद, गुवाहाटी, हैदराबाद, जयपुर, जम्मू, जमशेदपुर, कोच्चि, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, नागपुर, परवाणु, पटना, पुणे, रायपुर, दुर्गापुर,राजकोट और विशाखापत्तनम। ये शाखा कार्यालय संबंधितक्षेत्र की राज्य सरकारो, उद्योगों, तकनीकी संस्थानों, उपभोक्ता संगठनों इत्याोदिके बीच प्रभावी संपर्क का काम करते हैं।

Advertisement

Related posts

महाराष्ट्र में सियासी संकट: क्या सरकार बचा पाएंगे उद्धव ठाकरे ?

अंचल पदाधिकारी पटना सदर ने गायघाट उत्तरी गली, स्लम बस्ती के मामले में किया जनसुनवाई

Nationalist Bharat Bureau

सोशल मीडिया पर गिरफ्तारी की पुरानी फोटो डाल फंसा मनीष कश्यप, एक और FIR दर्ज

Leave a Comment