Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

सीतामढ़ी में बाढ़ पूर्व तैयारियों को लेकर जिला प्रशासन की समीक्षात्मक बैठक

जिलाधिकारी ने सभी प्रखंडो के नोडल पदाधिकारी,बीडीओ,सीओ आदि के साथ बैठक कर दिये आवश्यक निर्देश

 

Advertisement

सीतामढ़ी:जिलाधिकारी ने समाहरणालय स्थित परिचर्चा भवन में बाढ़ पूर्व तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में डीएम ने विस्तृत समीक्षा कर तटबंधों का निरीक्षण एवम सुरक्षा, वर्षापात एवम नदियों के जलस्तर पर नजर,नावों की उपलब्धता एवम उनका निबंधन, मानव एवम पशुओं के लिए चिन्हित शरण स्थली की वर्तमान स्थिति, मानव एवम पशुओं के लिए सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता, खाद्यान्न की उपलब्धता, गोताखोरों की सूची,आपदा मित्रो की उपयोगिता,सड़को की मरम्मती, संचार योजना,बाढ़ की स्थिति में आकस्मिक फसल योजना एवम बाढ़ पीड़ितों को राहत राशि उपलब्धता आदि के सम्बंध में कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।डीएम ने निर्देश दिया कि सभी शरण स्थली का भौतिक सत्यापन कर वहां सभी आवश्यक सुविधाओं का निरीक्षण कर लें ,विशेषकर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता एवं शौचालय की व्यवस्था को जरूर देख लें ।मानव दवा की उपलब्धता एवं पशुओं की दवा की उपलब्धता को लेकर डीएम ने कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डायरिया सर्पदंश सहित सभी आवश्यक मानव दवाओं एवं पशुओं की सभी आवश्यक दवा ससमय उपलब्धता को लेकर अभी से योजना बनाकर कार्य शुरू कर दे। डीएम ने उपस्थित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि ब्लीचिंग पाउडर का प्रभावकारी छिड़काव को लेकर अभी से ही पिछले अनुभवों को देखते हुए पूरी प्लानिंग कर ले। डीएम ने निर्देश दिया कि गोताखोरों की सूची एवं मोबाइल नंबर जिला नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने जिला संचार योजना को अपडेट करने का निर्देश दिया जिसमे इसमें जिला स्तर से लेकर पंचायत स्तर तक सभी महत्वपूर्ण मोबाइल नंबर शामिल करेंगे ।

बैठक में शामिल अधिकारीगण

डीएम ने कहा कि तटबंधों का नियमित निरीक्षण सुनिश्चित करेंगे। डीएम ने निर्देश दिया कि बाढ़ के समय प्रभावित क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओ, धातृ महिलाएं, दिव्यांग लोगो को किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े इसको लेकर अभी से ही ड्यू लिस्ट बना ले। इसके अतिरिक्त पॉलिथीन सीट की उपलब्धता ,पशु चारे की उपलब्धता, खाद्यान्न के संधारण हेतु गोदामों का चिन्हित किया जाना , नाव की उपलब्धता एवं उनका निबंधन किया जाना , आपातकालीन संचालन केंद्र एवं नियंत्रण कक्ष की स्थापना आदि को लेकर भी समीक्षा उपरांत डीएम ने संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।एवं हर हप्ते समीकक्षात्मक बैठक करने का निदेश दिया। उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त विनय कुमार,एडीएम विभागीय जाँच कृष्ण प्रसाद गुप्ता, सिविल सर्जन, डीपीओ आईसीडीएस रोचना माद्री, जिला शिक्षा पदाधिकारी अवधेश कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी अनिल कुमार, डीपीआरओ विजय कुमार पांडये, सबंधित विभाग के कार्यपालक अभियंता,सभी एसडीओ,सभी नोडल अधिकारी प्रखंड बीडीओ,सीओ आदि उपस्थित थे।

Advertisement

Related posts

मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों का सड़क से लेकर संसद तक हिसाब लेंगे:सरवत जहां फातिमा

Nationalist Bharat Bureau

बिहार में प्रदूषण नियंत्रण के मुद्दे पर आप नेताओं ने बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद को सौंपा ज्ञापन

Nationalist Bharat Bureau

कार्य में कोताही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी

Leave a Comment