Nationalist Bharat
Other

बलूचिस्तान प्रांत में सैकड़ों फीट गहरी खाई में गिरी वैन

स्त्रियों और बच्चों सहित कम से कम 22 लोगों की मृत्यु हो गई और कई अन्य घायल हो गए। वाहन खाई में तब गिरा जब ड्राइवर किल्ला सैफुल्ला के पास अख्तरजई के पहाड़ी क्षेत्र में एक तेज मोड़ पर वाहन को संभालने में विफल रहा, जो कि 1,572 मीटर की ऊंचाई पर है। अख्तरजई एक कबिलाई क्षेत्र है जो …

Pakistan News: पाक (Pakistan) के पहाड़ी (Mountainous) बलूचिस्तान (Balochistan) प्रांत में एक वैन (van) सैकड़ों फीट गहरी खाई में गिर गई। एक अधिकारी ने कहा कि स्त्रियों और बच्चों सहित कम से कम 22 लोगों की मृत्यु हो गई और कई अन्य घायल हो गए। वाहन खाई में तब गिरा जब ड्राइवर किल्ला सैफुल्ला के पास अख्तरजई के पहाड़ी क्षेत्र में एक तेज मोड़ पर वाहन को संभालने में विफल रहा, जो कि 1,572 मीटर की ऊंचाई पर है। अख्तरजई एक कबिलाई क्षेत्र है जो झोब में 1,572 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। डॉन अखबार की समाचार के अनुसार इस हादसा में 22 लोगों की मृत्यु हो गई और एक बच्चा घायल हो गया।

Advertisement

पहाड़ों में गहरी खाई के कारण बचाव अभियान मुश्किल’
झोब जिले के उपायुक्त हाफिज मुहम्मद कासिम ने कहा कि यात्री बस लोरालिया से झोब शहर की ओर जा रही थी। उन्होंने कहा, “वाहन अख्तरजई के पास एक पहाड़ी की चोटी से गिर गया। हमने अब तक 10 मृत शरीर बरामद किए हैं क्योंकि पहाड़ों में गहरी खाई के कारण बचाव अभियान कठिनाई है।” इर्द-गिर्द के अस्पतालों में अलर्ट जारी कर दिया गया है और बचाव अभियान में सहायता के लिए क्वेटा से टीमों को बुलाया गया है।

बिलावल भुट्टो ने हादसे पर जताया दुख
विदेश मंत्री (Foreign Minister) बिलावल भुट्टो जरदारी (Bilawal Bhutto Zardari) ने हादसा पर दुख व्यक्त किया और ऑफिसरों को घायलों के लिए पर्याप्त चिकित्सा इलाज सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। बिलावल भुट्टो ने भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं से बचने के लिए कदम उठाने का आह्वान किया।

Advertisement

देश के अशांत बलूचिस्तान (Balochistan)प्रांत में दुर्गम और पहाड़ी इलाकों के कारण हर वर्ष सड़क दुर्घटनाएं सैकड़ों लोगों की जान ले लेती हैं।

Advertisement

Related posts

सम्मानित किए गए शिया वक़्फ़ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन इरशाद अली आज़ाद

Nationalist Bharat Bureau

मुंबई के शोरगुल को कम करने के लिए ‘नो हॉर्न प्लीज’, सुमैरा अब्दुलाली से जानें ये क्यों जरूरी?

कश्मीर में हिंदू महिला शिक्षक की हत्या को लेकर केंद्र पर जमकर बरसे फारुख अब्दुल्ला

Leave a Comment