Nationalist Bharat
स्वास्थ्य

मोमोज खाने से हुई 50 साल के व्यक्ति की मौत, AIIMS ने जारी की ये चेतावनी

नई दिल्ली:सड़क किनारे खड़े होकर मोमोज तो हर किसी ने खाए ही होंगे, लेकिन अब मोमोज के शौकीन लोगों के लिए एक बुरी खबर है। जी हां आपको बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली के एक व्यक्ति की मोमोज खाने से मौत हो गई थी जिसके बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स ने एक एडवाइजरी जारी की है। एम्स की इस एडवाइजरी को अनदेखा ना करें।

 

Advertisement

एम्स ने जारी की ये चेतावनी

एम्स ने बताया कि दिल्ली के जिस 50 वर्षीय व्यक्ति की मोमोज खाने से मौत हुई है, उसकी मेडिकल जांच में पता चला था कि उसकी सांस की नली में एक मोमो फंस गया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी। मोमोज के कारण दम घुटने और उससे न्यूरोजेनिक कार्डिएक अरेस्ट  आने की वजह से शख्स की मौत हो गई।साथ ही एम्स के विशेषज्ञों ने मोमोज खाने वालों को चेतावनी जारी करते हुए एडवाइजरी जारी की। इस एडवाइजरी में कहा गया कि मोमोज चिकना और फिसलने वाला होता है। यदि कोई मोमोज को ठीक से नहीं चबाएगा और उसे निगल लेगा तो उसका दम घुट सकता है। इसलिए हमेशा इस बात का खास ख्याल रखें।

Advertisement

 

मैदा पहुंचाता है अग्नाशय को नुकसान

Advertisement

मोमोज के ऊपर की लेयर मैदा से बनाई जाती है। मैदे में मिलाए जाने वाले ब्लीच केमिकल अग्न्याशय को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं, जिससे इंसुलिन-उत्पादन क्षमता प्रभावित होती है।

 

Advertisement

खराब गुणवत्ता वाले इंग्रेडिएंट

मोमोज के अंदर इस्तेमाल होने वाली सब्जियां और चिकन, लंबे समय तक रखे रहने से खराब हो जाती हैं। ऐसे इंग्रेडिएंट से बने मोमोज का सेवन करेंगे तो जाहिर सी बात है, आप बीमार हो जाएंगे।

Advertisement

 

तीखी चटनी है खतरनाक

Advertisement

लाल मिर्च को स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है, लेकिन उस लाल मिर्च में प्रोसेसिंग के जरिए कुछ मिलाया गया न हो तब, लेकिन मोमो बेचने वाले लोग मिर्च की क्वालिटी की चिंता नहीं करते, वे मार्केट से सस्ती या लोकल मिर्च पाउडर खरीदकर उसकी चटनी बनाते हैं। ऐसी चटनी खाने से बवासीर/पाइल्स होने का खतरा बना रहता है।

 

Advertisement

मोनो-सोडियम ग्लूटामेट मोटापा बढ़ाता है

स्वाद के लिए मोमोज में मोनो-सोडियम ग्लूटामेट  मिलाया जाता है। सोडियम ग्लूटामेट सफेद क्रिस्टल पाउडर की तरह होता है। जो न केवल मोटापे का खतरा बढ़ाता है, बल्कि नर्व डिसऑर्डर, पसीना आना, सीने में दर्द, मतली आना और हार्ट रेट बढ़ाने जैसे स्वास्थ जोखिम का कारण बन सकता है।

Advertisement

 

खतरनाक टैपवार्म का सोर्स

Advertisement

मोमोज में पत्ता गोभी की स्टफिंग होती है, जिसे अगर ठीक से नहीं पकाया गया तो इसमें टैपवार्म के बीजाणु हो सकते हैं, जो मस्तिष्क तक पहुंच सकते हैं।

Advertisement

Related posts

करोना को लेकर तेजस्वी यादव की कार्यकर्ताओं से खास अपील,सरकार पर हमला भी बोला

Nationalist Bharat Bureau

बच्चो की आँखों में काजल लगाने से क्या नुकसान होता है

Nationalist Bharat Bureau

खाली पेट खाएं तुलसी के पत्ते : मिलेंगे ये अद्भुत फायदे

Leave a Comment