Nationalist Bharat
विविध

अब क्या करेंगे DNA वाले सुधीर चौधरी

आजकल सोशल मीडिया पर ज़ी न्यूज़ के जिओ और मशहूर प्रोग्राम डीएनए एंकरिंग करने वाले जी न्यूज के पत्रकार सुधीर चौधरी की इस्तीफे की खबरें वायरल हो रही है। लोग भले ही मजे से अपने अपने हिसाब से उस पर प्रतिक्रियाएं भी व्यक्त कर रहे हैं। सुधीर चौधरी के समर्थक जहां एक और सुधीर चौधरी के ज़ी न्यूज़ छोड़ने से मायूस है वही इस बात से खुश भी हैं क्या सुधीर चौधरी ने एक नए वेंचर का इशारा दिया है। वही सुधीर चौधरी के आलोचक ज़ी न्यूज़ से सुधीर चौधरी की विदाई को बेइज्जती के तौर पर देख रहे हैं और कहा यह जा रहा है कि ज़ी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा ने बेइज्जत करके सुधीर चौधरी को अपने संस्थान से विदा कर दिया है। हालांकि सोशल मीडिया पर जारी त्यागपत्र और उससे जुड़ी तथाकथित इंटरनल ईमेल को देखने से पता चलता है कि सुभाष चंद्रा ने सुधीर चौधरी को अपने संस्थान में रोकने की कोशिश भी की लेकिन सुधीर चौधरी के द्वारा स्वतंत्र तौर पर अपना वेंचर लांच करने की दुहाई देने पर सुधीर चौधरी को विदाई दी गई है।

एक्सचेंज4मीडिया के मुताबिक, सुधीर चौधरी का इस्तीफा स्वीकार करते हुए डॉ. चंद्रा ने एक इंटरनल मेल लिखा है। अपने मेल में डॉ. चंद्रा का कहना है,’पिछले दो दिनों में सुधीर चौधरी के साथ कई मीटिंग हुईं और मैंने उनके यहां रुकने पर भी जोर दिया। लेकिन सुधीर चौधरी अपनी फैन फॉलोइंग के लिए एक नया वेंचर लॉन्च करने की योजना पर काम कर रहे हैं। लिहाजा, मैं उनके सफलता की राह में कोई रुकावट नहीं बनना चाहता, इसलिए मैंने उनके इस्तीफे को स्वीकृति दी है। मेरी शुभकामनाएं हैं कि वह और ऊंचाइयों पर पहुंचें।’

Advertisement

सोशल मीडिया पर दौड़ रहे सुधीर चौधरी और सुभाष चंद्रा के ईमेल के हवाले से कई तरह की बातें हो रही हैं जिसमें कोई कह रहा है कि सुधीर चौधरी ने अपना खुद का वेंचर शुरू करने के लिए ज़ी न्यूज़ को अलविदा कहा है तो वहीं दूसरी तरफ यह भी चर्चा है कि हालिया दिनों में राज्यसभा का चुनाव हारने वाले ज़ी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा सुधीर चौधरी से नाराज बताए जा रहे हैं। वहीं, सुधीर चौधरी ने अपने इस्तीफे में अंग्रेजी की एक कहावत (Great is the art of beginning, but greater is the art of ending यानी आरंभ यदि अद्भुत है, तो अंत अविस्मरणीय है) का जिक्र करते हुए डॉ. सुभाष चंद्रा से उनका आशीर्वाद मांगा। उन्होंने कहा कि अंतर्मन की आवाज को सुनते हुए भारी मन से मैंने यह फैसला लिया है। मुझे उम्मीद है कि मैं जो नया वेंचर शुरू करने जा रहा हूं, उसे लेकर आपको मुझ पर गर्व होगा। ‘जी’ में लगभग 15 साल के कार्यकाल के दौरान मुझे यहां काफी कुछ सीखने को मिला है।

इन सबके बीच जो सबसे अहम और खास बात है वाह यह के फाइनली सुधीर चौधरी अपने किसी नए वेंचर की लॉन्चिंग की तैयारी में हैं। जाहिर है यह प्रोग्राम उनका फौरी तौर पर नहीं बना होगा बल्कि इसके पीछे एक लंबी योजना है जिस पर वह काम कर रहे होंगे। दरअसल सुधीर चौधरी भी उसी कैटेगरी के पत्रकारों में आते हैं जिन पर सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने आपसी नफरत को बढ़ावा देने कट्टर वाद को बढ़ावा देने के आरोप लगते रहे हैं। सुधीर चौधरी का शुमार अर्णब गोस्वामी अंजना ओम कश्यप अमित देवगन दीपक चौरसिया जैसे बर बोले पत्रकार के तौर पर होता है। ऐसे में सुधीर चौधरी के साथ भी उनके सोशल मीडिया साइट पर उनको फॉलो करने वालों  की एक बहुत बड़ी तादाद है जो आंख मूंदकर सुधीर चौधरी की हर एक बात को मानने को तैयार बैठे रहते हैं जाहिर है एक लंबे समय से दूसरे संस्थान में नौकरी करने के नफा नुकसान के दरमियान सुधीर चौधरी ने खुद का वेंचर शुरू करने का फैसला लिया होगा जो इससे पहले सुधीर चौधरी टाइप के कई पत्रकारों जैसे इंडिया न्यूज़ वाले रजत शर्मा टाइम्स नाउ वाले अर्नब गोस्वामी जैसे लोग ले चुके हैं और वह भारी कमाई कर रहे हैं साथी साथ एक बड़ा एंपायर भी खड़ा कर लिया है। ऐसे में सुधीर चौधरी का उसी लाइन पर जाना कोई अचरज की बात नहीं है और ना ही कोई नई बात । लेकिन देखने वाली बात यह होगी कि ज़ी न्यूज़ पर डीएनए प्रोग्राम के द्वारा परोसे जा रहे प्रोग्राम जैसा ही कुछ होगा या फिर जिस तरह के आरोप उन पर  लगते हैं उससे अलग हटकर अपनी पहचान बनाने की कोशिश की जाएगी। लेकिन अगर आप उनके फैन फॉलोअर्स बात करें तो इस बात की दूर-दूर तक उम्मीद नहीं है की सुधीर चौधरी ऐसा कोई भी काम जा प्रोग्राम करेंगे जो उनकी एक बड़ी फॉलोअर्स की फौज को उनसे दूर कर सके। दरअसल सुधीर चौधरी के भविष्य का पूरा ताना-बाना उसी फैन फॉलोइंग पर टिका है जो अब तक उन्हें पत्रकार बनाए हुए है। ऐसे में अब देखने वाली बात यह होगी कि ज़ी न्यूज़ के निकाले जाने वाले पत्रकार सुधीर चौधरी अपने नए वेंचर के माध्यम से किस तरह की पत्रकारिता करते हैं।

Advertisement

Related posts

बिहार:सड़कों पर झाड़ू लगाने वाली महिला बनी डिप्टी मेयर

Nationalist Bharat Bureau

वायर से बनी ड्रेस में कहर ढा रही है उर्फी जावेद

Father’s Day 2023:पिता उस साए का नाम है जो बच्चों की खुशी के लिए हर दर्द सह कर भी मुस्कुराता है

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment