Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

ज़ी न्यूज़ के खिलाफ कार्रवाई के लिए न्यूज़ ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्स अथॉरिटी पहुंचा कांग्रेस का अल्पसंख्यक विभाग

नई दिल्ली । हाल ही में ज़ी न्यूज़ के द्वारा अपने दिए ने कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड के सांसद राहुल गांधी के वीडियो को गलत तथ्यों में प्रसारित करने को लेकर मचे बवाल के बीच डीएनए शो के एंकर के खिलाफ जारी मामले से आगे बढ़ते हुए कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग ने न्यूज़ ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्स अथॉरिटी यानी NBSA के चैयरमैन जस्टिस ए के सीकरी को ज्ञापन सौंपा है जिसमे Zee News चैनल के ख़िलाफ़ सख्त से सख़्त कार्रवाई की मांग की गई है।

ज्ञापन में लिखा गया है कि राहुल गाँधी जी हाल ही में अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड पहुंचे थे जहां उन्होंने कांग्रेस कार्यालय पर SFI के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई तोड़ फोड़ पर कहा था कि जिन्होंने ऐसा किया है उन्हें में बच्चा समझता हूँ उनके इस बयान को Zee News ने अपने प्राइम टाइम शो में उदयपुर से जोड़ते हुए दिखाया था।फेक न्यूज़ चलाए जाने के बाद एंकर रोहित रंजन ने अगले दिन अपने शो DNA में कहा था हमारे शो में उदयपुर से सम्बंधित ग़लत न्यूज़ प्रसारित की गई थी जिस के लिए हम क्षमाप्रार्थी हैं।एंकर रोहित रंजन के ख़िलाफ़ शनिवार को जयपुर में केस दर्ज हो गया है Zee News टीवी एंकर पर आरोप है की उन्हों ने जान बूझ कर बयान को ऐसे पेश किया ताकि लगे की राहुल गाँधी ने उदयपुर हत्त्याकांड के आरोपियों को बच्चा कहा और उन्हें माफ़ करने की बात कही है अब इस मामले में IPC की धारा 504, 505, 153A, 295A, 120B, तथा आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ है।

Advertisement
NBSA को सौंपी गई चिट्ठी

कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग इस प्रकरण की कड़े शब्दों में निंदा करता है और मूल रूप से ज़ी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा को जिम्मेदार समझता है क्यूंकी की पूर्व में Zee News द्वारा देश के अलग अलग मामलों में भी इसी तरह से फ़ेक न्यूज चलाए गए है वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए देश में नफ़रत का माहोल बनाने में Zee News जैसे चैनल भी जिम्मेदार हैं कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग का प्रतिनिधि मंडल आप से यह मांग करता है कि Zee News चैनल के ख़िलाफ़ सख्त से सख़्त करवाई की जाए।

Advertisement

Related posts

जनप्रतिनिधियों को मिलने वाले पेंशन और भत्ते खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को पत्र

आर्यभट्ट ज्ञान विश्विद्यालय कुलपति की नियुक्ति न होने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल,राज्यपाल की भूमिका को संदिग्ध बताया

हजारो रसोइयों का मुख्यमंत्री के समक्ष प्रदर्शन 31 अक्टूबर को

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment