Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

योगी आदित्यनाथ सरकार के ख़िलाफ़ एक और विधायक ने खोला मोर्चा

लखनऊ:उत्तर प्रदेश योगी सरकार के लिए उसका दूसरा कार्यकाल अभी से खतरे की घंटी बजा रहा है। दिन-ब-दिन निकल कर आ रही खबरों से पता चलता है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं है। एक दिन पहले ही एक मंत्री के द्वारा कई आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री को लिखे गए त्यागपत्र के बाद एक और विधायक ने मोर्चा खोल दिया है। विधायक ने योगी सरकार के अधिकारी के द्वारा बात नहीं सुने जाने को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया है। इस आशय का एक पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है जिसमें कई तरह के आरोप लगाए गए है।पहले यूपी के मंत्री दिनेश खटीक का इस्तीफा सामना आया था. केंद्रीय गृह मंत्री को भेजे गए इस्तीफे में उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें दलित होने की वजह से सरकार में सम्मान नहीं मिलता. अधिकारी उनकी बात नहीं सुनते. अब एक विधायक का पत्र सामने आया है. इसमें एक्जीक्यूटिव इंजीनियर पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं.

Advertisement

ये लेटर उन्नाव के सफीपुर से विधायक बंबा लाल दिवाकर ने लिखा है. डीएम और सीडीओ को लिखे गए पत्र में क्षेत्र के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. विधायक ने आरोप लगाया है कि एक्जीक्यूटिव इंजीनियर रजनीश चंद्र अनुरागी फोन रिसीव नहीं करते. अगर फोन उठाते भी है, तो अनुचित और असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करते हैं।पत्र में विधायक ने लिखा है कि कृपया आपको सादर अवगत कराना है कि मैं सफीपुर विधान सभा क्षेत्र से जन प्रतिनिधि होने के नाते दिनांक 16-07-2022 को विकास खण्ड नियागंज की जनता से प्राप्त हो रही ट्रांसफारमर खराब होने के कारण तथा उस क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति पूर्णतया बन्द होने के कारण मैंने श्री राजनीश चन्द्र अनुरागी अधिषाशी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड हसनगंज उन्नाव को सांयकाल 5 बजे से रात्रि 10 बजे तक फोन करता रहा किन्तु इन्होनें मेरा फोन रिसीव नहीं किया। महोदय जब श्री राजनीश चन्द्र अनुरागी द्वारा मेरा फोन रिसीव किया गया तब इन्होने मुझसे कहा कि आप मुझे बार-बार फोन क्यों करते हो आप केवल क्षेत्र के बिजली समस्याओं के लिए ही विधायक बनाये गये है. छोटे-छोटे काम के लिए आप मुझे फोन करते हो मैं कोई लाइन मैन हूँ जो आपके क्षेत्र की समस्या हल करुगा ऐसी समस्याओं का निदान सब-स्टेशन से सम्बन्धित होते है एक ही काम के लिए मुझे आप कई बार फोन मत किया करो । महोदय क्षेत्र के जन प्रतिनिधि से श्री राजनीश चन्द्र अनुरागी अधिषाशी अभियन्ता द्वारा ऐसी भाषा का प्रयोग किया जाना अनुचित है इन्होने मेरे अधिकारों का हनन किया है, जनहित में इनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करके अन्यंत्र स्थानान्तरित किया जाना नितान्त आवश्यक है ।

अतः पत्र में वर्णित तथ्यों को दृष्टिगत रखते हुए श्री राजनीश चन्द्र अनुरागी अधिषाशी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड हसनगंज उन्नाव द्वारा जन प्रतिनिधि से असंसदीय भाषा को प्रयोग किया है तथा साथ ही साथ अपने दायित्यों का निर्वाहन करने में अक्षम प्रतीत हो रहे है जिसके कारण जनहित से जुड़े कार्य कर पाना सम्भव प्रतीत नही हो पा रहा है। अतः श्री राजनीश चन्द्र अनुरागी अधिषाशी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड हसनगंज उन्नाव को अन्यंत्र स्थानान्तरित करके इनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किये जाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करने का कष्ट करें ।

Advertisement

जितिन प्रसाद भी चल रहे नाराज

गौरतलब है कि योगी सरकार में तीन मंत्रियों बृजेश पाठक, जितिन प्रसाद और दिनेश खटीक के नाराज होने की चर्चा है। हालांकि दिनेश खटीक ने अमित शाह को इस्तीफा भेज दिया है, जबकि जितिन प्रसाद अपनी नाराजगी के चलते बुधवार को दिल्ली में बीजेपी अलाकमान से मिलने भी पहुंचे थे। दरअसल, उत्तर प्रदेश में डॉक्टरों के तबादलोंं और PWD विभाग तबादलों में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। यहां तक कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने जितिन प्रसाद के ओएसडी को भी हटा दिया। साथ ही उनके विभाग के कई लोगों को बर्खास्त कर दिया। इस मामले में जांच भी बैठा दी है। बताया जा रहा है कि जितिन प्रसाद इस कार्रवाई से नाराज चल रहे हैं।

Advertisement

Related posts

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद जल्द बनेंगे दादा,तेजस्वी यादव पापा

Alt News को-फाउंडर Mohammad Zubair गिरफ्तार, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने किया अरेस्ट

इसरो के वैज्ञानिकों से मिलने पहुंचे पीएम मोदी, चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के लिए पीठ थपथपाकर दी बधाई

Leave a Comment