Nationalist Bharat
Other

बिहार:सरकारी बंगले पर बवाल

पटना । बिहार में इन दिनों सरकारी बंगले पर बवाल मचा हुआ है। सरकार की तरफ से पूर्व उप मुख्यमंत्रियों तारकिशोर सिंह(TARKISHOR PRASAD) और रेणु देवी(RENU DEVI) को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस जारी किया गया है। जिसके बाद बीजेपी(BJP) का आरोप है कि महागठबंधन की सरकार बदले की भावना से बंगला खाली करवा रही है।

डिप्टी सीएम के दबाव में दिया गया नोटिस

पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी(SUSHIL MODI) ने कहा कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद(TEJASVI PRASAD YADAV) के दबाव में राज्य सरकार राजनीतिक बदले की भावना से भाजपा के पूर्व उप मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस थमाकर उनसे भारी जुर्माना वसूलना चाहती है। यदि हिम्मत है नीतीश कुमार(NITISH KUMAR) सरकारी आवासों पर अवैध कब्जे के मुद्दे पर श्वेत पत्र जारी करें।

Advertisement

सुशील मोदी ने 2017 का दिलाई याद

मोदी(M0DI) ने रविवार को बयान जारी कर कहा कि भाजपा का कोई जनप्रतिनिधि किसी सरकारी आवास में तेजस्वी यादव की तरह जबरदस्ती नहीं रहना चाहता। 2017 में महागठबंधन सरकार गिरने के बाद तत्कालीन उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव(TEJASVI PRASAD YADAV) पांच, देशरत्न मार्ग स्थित सरकारी बंगला खाली करने की नोटिस के बावजूद बिना कोई अतिरिक्त भुगतान किए न केवल डेढ़ साल तक बंगले में बने रहे, बल्कि हाईकोर्ट में मुकदमा हारने के बाद सर्वोच्च न्यायालय(SUPREME COURT) तक गए।

 

Advertisement

भाजपा नेताओं को भेजा गया 30 गुना ज्यादा जुर्माने का नोटिस

उल्लेखनीय है कि बिहार की पूर्ववर्ती नीतीश सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी सहित नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा को आवास खाली करने का नोटिस दिया और अब उन पर आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है. जिसके बाद राज्य राजनीति गर्मा गई और आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जबकि जेडीयू के कई लोग बिना आवास मिले ही बंगले में रह रहे हैं, लेकिन उन्हें कोई नोटिस नहीं दिया गया है. जेडीयू के नेताओं को आखिर सरकार क्यों बिना बंगला अलॉट किये हुए ही रहने दे रही है. संजय जायसवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार भाजपा के साथ भेदभाव कर रही है.उप मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद आवास खाली नहीं करने को लेकर बिहार की पूर्व डिप्टी सीएम रेणु देवी को आवास खाली करने के साथ 2 लाख 36 हजार रुपये के जुर्माने का नोटिस भेजा गया है. भवन निर्माण विभाग से मिले नोटिस में तय समय तक बंगला खाली नहीं करने के बाद 30 गुना ज्यादा जुर्माने की राशि लगाई गई है. रेणु देवी ने इस मसले पर कहा कि जो आवास मुझे दिया गया है वो अब तक रहने लायक नहीं है, फिर उसमें कैसे रहा जा सकता है. 2 लाख 36 हजार रु का जुर्माना आखिर क्यों भरें जब आवास रहने लायक दिया ही नहीं गया. उनके अलावा पूर्व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा पर भी जुर्माना लगाया गया है.

Advertisement

Related posts

आरामदायक वस्त्र क्या सिर्फ़ पुरुषों की ज़रूरत है?

Nationalist Bharat Bureau

नगर निकायों में सुबह 8 बजे तक पूरी हो सफाई : ऐ के शर्मा, नगर विकास मंत्री

cradmin

आप का होली मिलन समारोह आज

Leave a Comment