Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

The Kashmir Files पर ज्‍यूरी चीफ के विवादित बयान पर इजरायल ने दी सफाई, अनुपम खेर ने जमकर कोसा

लैपिड ने समापन समारोह में कहा था, हम सभी 15वीं फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से परेशान और स्तब्ध थे. यह हमें एक प्रचार, अश्लील फिल्म की तरह लगा, जो इतने प्रतिष्ठित फिल्म समारोह के कलात्मक प्रतिस्पर्धी वर्ग के लिए अनुपयुक्त है.

 फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स‘ को अश्लील और प्रोगेपेंडा करार दिए जाने पर अभिनेता अनुपम खेर ने आईएफएफआई के ज्यूरी प्रमुख नादव लापिड पर पलटवार किया है. वहीं फिल्म मेकर अशोक पंडित, भारत में इजरायल के राजदूत और मुंबई में इज़राइल के महावाणिज्यदूत कोब्बी शोशानी ने भी लापिड के बयान पर आपत्ति जताई.  इस फिल्म फेस्टिवल का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें लापिड फिल्म के बारे में विवादास्पद टिप्पणी करते नजर आ रहे हैं. फेस्टिवल की पीआर टीम के एक सदस्य ने समापन समारोह के दौरान उनकी अश्लील टिप्पणी की पुष्टि की है. उनके इस बयान पर हमला बोलते हुए फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने ट्वीट किया. उन्होंने कहा, झूठ का कद कितना भी ऊंचा क्यों ना हो..सत्य के मुकाबले में हमेशा छोटा ही होता है. इसके साथ उन्होंने फिल्म की तस्वीरें भी ट्वीट की.

Advertisement

अशोक पंडित ने भी बोला हमला

वहीं फिल्म मेकर अशोक पंडित ने भी लापिड के बयान की आलोचना की. उन्होंने ट्वीट में कहा, ‘फिल्म द कश्मीर फाइल्स के लिए लापिड की ओर से इस्तेमाल की गई भाषा पर मैं कड़ा विरोध जताता हूं. 3 लाख कश्मीरी हिंदुओं का नरसंहार दिखाने वाली फिल्म को अश्लील नहीं कहा जा सकता. बतौर फिल्ममेकर और कश्मीरी पंडित होने के नाते मैं आतंकवाद के पीड़ितों के प्रति इस तरह के व्यवहार की आलोचना करता हूं.’

Advertisement

लापिड ने क्या कहा था?

लैपिड ने समापन समारोह में कहा था, ‘हम सभी 15वीं फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से परेशान और स्तब्ध थे. यह हमें एक प्रचार, अश्लील फिल्म की तरह लगा, जो इतने प्रतिष्ठित फिल्म समारोह के कलात्मक प्रतिस्पर्धी वर्ग के लिए अनुपयुक्त है.’ लापिड ने आगे कहा, ‘इस मंच पर आपके साथ इन भावनाओं को खुलकर साझा करने में मैं पूरी तरह से सहज महसूस कर रहा हूं. चूंकि, महोत्सव की भावना निश्चित रूप से एक अहम चर्चा को भी स्वीकार कर सकती है, जो कला और जीवन के लिए जरूरी है.’

Advertisement

 

लापिड के बयान से अलग राय रखते हुए मुंबई में इज़राइल के महावाणिज्यदूत कोब्बी शोशानी ने कहा, ‘मैंने फिल्म देखी है और फिल्म की कास्ट से भी मिला हूं. मेरी राय लापिड से अलग है. उनकी स्पीच के बाद मैंने लापिड को अपनी राय बताई थी. ‘

Advertisement

Related posts

आजतक की पत्रकार स्वेता सिंह के भारतीय परिधान ग्रहण करने पर गोरवान्वित हुए गिरिराज सिंह,कही ये बात…

ई बिहार है बिहार!मोदी को गली-गली में चक्कर लगवा देगा

12 बजते ही हैप्पी न्यू ईयर की गूंज,डीजे की धून पर डांस, मस्ती और धमाल

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment