Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

सीटेट बीटेट पास शिक्षक अभ्यर्थियों का विधानसभा घेराव 13 दिसम्बर को

पटना:बिहार प्रारंभिक युवा शिक्षक संघ के आह्वान पर सातवें चरण की प्राथमिक शिक्षक बहाली के नोटिफिकेशन जारी करने की माँग को लेकर शिक्षक अभ्यर्थी मंगलवार को शांतिपूर्वक विधानसभा मार्च करेंगे।संघ के प्रदेश अध्यक्ष दीपांकर गौरव ने बताया कि करीब चार सालों से शिक्षक अभ्यर्थी सीटेट ,बीटेट पास कर सड़क पर आन्दोलन को विवश है। गर्दनीबाग में शांतिपूर्ण ढंग से शिक्षक अभ्यर्थी पिछले 38 दिनों से धरने पर बैठे हैं, बाबजूद शिक्षा विभाग के कोई अधिकारी उनकी सुधि लेने धरनास्थल पर नही पहुँचे जिससे विवश होकर शिक्षक अभ्यर्थियों को सड़क पर उतरना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को बड़ी संख्या में पूरे बिहार से हजारों महिला, दिव्यांग सहित शिक्षक अभ्यर्थी शांतिपूर्वक विधानसभा घेराव करेंगे।कार्यकारी अध्यक्ष नितेश पांडेय तथा प्रवक्ता अनीश सिंह ने कहा कि शिक्षा विभाग के उदासीन रवैये के कारण शिक्षक अभ्यर्थियों में काफी रोष है।

जुलाई के अंत तक विज्ञप्ति जारी करने की बात कही थी शिक्षा विभाग ने
प्रदेश उपाध्यक्ष मीकू पाल तथा संयोजक कुमार सत्यम ने बताया कि शिक्षा विभाग ने अधिसूचना जारी कर जुलाई के अंत तक सातवें चरण की प्राथमिक शिक्षकों की बहाली के विज्ञापन जारी करने की बात कही थी लेकिन अबतक नोटिफिकेशन जारी नही हो सका है।

Advertisement

 

अभ्यर्थियों के समर्थन में है भाजपा
बताते चले कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने भी शिक्षक अभ्यर्थियों के आंदोलन में साथ देने की बात कही है। शिक्षक आन्दोलन को सभी विपक्ष का पुरजोर समर्थन है।

Advertisement

 

आपको बता दें, 7वें चरण की शिक्षक बहाली की मांग को लेकर ये अभ्यर्थी लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। पिछले दिनों इन्होने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के सामने भी अपनी आवाज़ उठाई थी। कई बार अलग-अलग जगह पर प्रदर्शन करने के बाद भी इन अभ्यर्थियों को सिर्फ पुलिस के लाठी-डंडे ही खाने को मिल रहे हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कि हमनें मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री से लेकर बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में भी अपनी मांग को रखा लेकिन हमारी आवाज़ को दबा दिया जाता है। बहाली न होने के कारण अब कैंडिडेट्स का गुस्सा फुट उठा है। उन्होंने ये सीधे तौर पर एलान कर दिया है कि अब 13 दिसंबर से पटना में महाआंदोलन होगा। इतना ही नहीं, उन्होंने विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव करने की भी चेतावनी दे दी है।

Advertisement

 

 

Advertisement

गौरतलब है कि बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने 10 लाख लोगों को नौकरी देने का वादा किया था। वहीं, दूसरी तरफ पटना से शिक्षक अभ्यर्थियों की जो लगातार तस्वीर सामने आ रही है वो नीतीश-तेजस्वी के वादे से बिल्कुल परे नज़र आ रही है। अब अभ्यर्थियों ने पटना में महाआंदोलन का एलान कर दिया है। इसके अलावा वे विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव भी करेंगे, जो सीएम नीतीश के साथ-साथ डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के लिए भी बड़ी चुनौती होगी।

Advertisement

Related posts

जनप्रतिनिधियों को मिलने वाले पेंशन और भत्ते खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को पत्र

दिल्ली: 19 जनवरी से शहर बढ़ सकता है पारा, जाने यह मौसम का हाल 

cradmin

चार दिन में दूसरे जैन मुनि ने त्यागे प्राण: सम्मेद शिखर के लिए अनशन पर थे; 3 दिसंबर को सुज्ञेयसागर जी ने छोड़ी थी देह

cradmin

Leave a Comment