Nationalist Bharat
खेल समाचार

अर्जेंटीना बना फुटबॉल का नया बादशाह

नई दिल्ली:फुटबॉल के 64 मैचों के बाद, यह तय हुआ कि कि अर्जेंटीना फुटबॉल का नया बादशाह है। रोमांचक और शानदार मैच में अर्जेंटीना ने पेनल्टी शूटआउट में फ्रांस को हराया। इससे पहले, दोनों टीमें कुल 120 मिनट के दौरान तीन-तीन गोल से बराबरी पर थीं। फ्रेंच स्ट्राइकर एम्बाप्पे ने इस मुकाबले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिन्होंने इस मैच में तीन गोल किए, यानी वह फाइनल मैच में हैट्रिक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने। उन्हें गोल्डन बूट मिला क्योंकि उन्होंने कतर में विश्व कप में सबसे अधिक 8 गोल किए और इसके बाद मेसी ने 7 गोल किए।

कतर में खेले गए विश्व कप के फाइनल में अर्जेंटीना ने पेनल्टी शूटआउट में फ्रांस को 2-4 से हराया। इसके साथ ही वह 36 साल बाद वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब रहे। अर्जेंटीना ने 1978 और 1986 के बाद अब तीसरी बार खिताब जीता है। निर्धारित 90 मिनट तक मैच 2-2 से बराबर रहने के बाद मैच अतिरिक्त समय में चला गया। वहीं, लियोनेल मेसी ने गोल कर अर्जेंटीना को 3-2 से आगे कर दिया, लेकिन काइलियन एम्बाप्पे ने आक्रामक खेल दिखाते हुए 117वें मिनट में गोल कर मैच 3-3 से बराबर कर दिया। इसके बाद अर्जेंटीना ने पेनल्टी शूटआउट में मैच जीत लिया।

Advertisement

अर्जेंटीना ने 108वें मिनट में लियोनेल मेसी के गोल की बदौलत 2-3 की बढ़त बना ली। लेकिन, एम्बाप्पे के शानदार गोल ने स्कोर को 3-3 कर दिया।90 मिनट के बाद स्कोर लाइन 2-2 से बराबर हो गई। उनका मैच अतिरिक्त समय में चला गया। दोनों टीमों ने 90 मिनट में 4 गोल किए। अर्जेंटीना ने पहले हाफ में दो गोल कर बढ़त बना ली। टीम की ओर से लियोनेल मेसी ने 23वें मिनट में और एंजेल डि मारिया ने 36वें मिनट में गोल किया। वहीं, फ्रांस के काइलियन एम्बाप्पे ने 97 सेकंड में दो गोल कर स्कोर लाइन को दो पर बराबर कर दिया। एम्बाप्पे ने 80वें मिनट में पेनल्टी और 81वें मिनट में फील्ड गोल किया।

Advertisement

 

मैच के 21वें मिनट में अर्जेंटीना के एंजेल डि मारिया गेंद लेकर फ्रांस के पेनल्टी बॉक्स की ओर दौड़े. वह लेफ्ट विंग से दौड़कर बॉक्स में घुस गए, लेकिन फ्रांस के ओस्मान डेम्बेले ने उन्हें फाउल कर दिया. फाउल के बाद रेफरी ने अर्जेंटीना को पेनल्टी दी।लियोनेल मेसी ने 23वें मिनट में पेनल्टी शॉट लगाकर टीम को एक-शून्य से आगे कर दिया। इस गोल के साथ मेसी ने टूर्नामेंट में 6 गोल किए हैं। वह टूर्नामेंट के शीर्ष गोलस्कोरर बने।शुरुआती बढ़त के बावजूद अर्जेंटीना ने फ्रांस पर हमला जारी रखा। 35वें मिनट में अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी दौड़े। उन्होंने फ्रेंच पेनल्टी बॉक्स में टीम के साथी मैकएलिस्टर को पास किया। उसी समय, मैकएलेस्टर ने एंजेल डि मारिया को गेंद पास की। 36वें मिनट में फ्रांस के गोलकीपर ह्यूगो लोरिस डि मारिया की ओर दौड़े, लेकिन डि मारिया ने गोल की ओर शॉट लगाया। गेंद सीधे नेट में चली गई और स्कोर अर्जेंटीना के पक्ष में 0-2 हो गया। दूसरे हाफ में फ्रांस हावी रहा। दूसरे हाफ के 80वें और 81वें मिनट में फ्रांस के खिलाड़ी कॉलिन एम्बाप्पे ने दो गोल दागे। दूसरे हाफ में, दोनों टीमों ने गोल पर 6 शॉट लगाए, लेकिन केवल फ्रांस 2 शॉट को गोल में बदलने में सफल रहा। दूसरे हाफ में अर्जेंटीना ने 2 कार्नर और फ्रांस ने 3 कार्नर लिए।अर्जेंटीना ने पहले हाफ में फ्रांस पर दबाव बनाए रखा। टीम ने फ्रांस को गोल पर एक भी शॉट नहीं लगाने दिया। जबकि पहले हाफ में अर्जेंटीना ने गोल पर 6 शॉट लगाए। इनमें से 2 शॉट गोल भी बने। अर्जेंटीना ने पहले हाफ में दो कार्नर लिए लेकिन फ्रांस को एक भी कार्नर नहीं लेने दिया। सर्वश्रेष्ठ गोल का खिताब अर्जेंटीना के गोलकीपर को मिला।

Advertisement

 

यह पांचवां मौका है जब कोई टीम ग्रुप चरण में अपना पहला मैच हारकर चैंपियन बनी है। अर्जेंटीना सऊदी अरब के खिलाफ अपना पहला मैच 2-1 से हार गया। वर्ल्ड कप का फाइनल मैच काफी रोमांचक रहा और पूरे मैच में दोनों टीमों ने शानदार खेल दिखाया।

Advertisement

Related posts

Chamika Karunaratne: स्टार क्रिकेटर को भारी पड़ा ‘अनुशासन’ तोड़ना, एक साल के लिए हुआ सस्पेंड, भरने पड़ेंगे लाखों रुपये

Nationalist Bharat Bureau

क्या कुलदीप यादव को रिप्लेस करने का बहुत ज्यादा दबाव था? जयदेव उनदकट ने दिया यह जवाब

Nationalist Bharat Bureau

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वहाब रियाज खास क्लब में शामिल, टी20 में यह रिकॉर्ड हासिल करने वाले दुनिया के छठे गेंदबाज बन गए हैं

cradmin

Leave a Comment