Nationalist Bharat
खेल समाचार

क्या कुलदीप यादव को रिप्लेस करने का बहुत ज्यादा दबाव था? जयदेव उनदकट ने दिया यह जवाब

जयदेव उनदकट को हाल ही में 12 साल बाद टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला है। वह बांग्लादेश के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी और निर्णायक मैच में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा थे। उन्हें कुलदीप यादव की जगह टीम में शामिल किया गया। बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के पहले टेस्ट में कुलदीप यादव ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ रहे थे। ऐसे में जब उनदकट से पूछा गया कि पिछले मैच के हीरो रहे कुलदीप की जगह लेने के बाद क्या वह अतिरिक्त दबाव महसूस कर रहे थे तो उन्होंने इस तरह के किसी दबाव से साफ इनकार किया.

जयदेव उनदकट ने कहा, ‘मुझ पर कोई दबाव नहीं था। जब आप किसी चीज की उम्मीद नहीं करते हैं और चीजें होती हैं, तो मैं इसे अपने संघर्ष का नतीजा मानता हूं। मैं बस उस मैच में अपना पूरा योगदान देना चाहता था। अगर मुझे विकेट नहीं मिला होता तो मैं दूसरे छोर से दबाव बनाने की कोशिश करता। मेरे मन में भी यही विचार चल रहा था।

Advertisement

उंदकट ने कहा, ‘मुझे मौका इसलिए मिला क्योंकि टीम प्रबंधन ने मुझे पिच के लिए फिट माना। पिच की स्थिति राजकोट जैसी ही थी। ज्यादा गति नहीं थी, आपको लेंथ को सख्त रखना था और पिच से सर्वश्रेष्ठ हासिल करने की कोशिश करनी थी। मुझे पता था कि अगर मैं अपनी ताकत पर टिका रहूंगा तो चीजें मेरे पक्ष में होंगी और इसलिए मुझे पिच से अतिरिक्त उछाल मिला।

Advertisement

Related posts

ICC ने U19 महिला T20 विश्व कप 2023 के लिए सबसे अधिक महिला मैच अधिकारियों की घोषणा की

IPL में फिर चलेगा दादा का जलवा!दिल्ली कैपिटल्स ने सौरव गांगुली को दी बड़ी जिम्मेदारी

भारोत्तोलन खेल में बिहार के रजनीश भास्कर प्रथम अंतर्राष्ट्रीय श्रेणी 1 रेफरी बने

Leave a Comment