Nationalist Bharat
शिक्षा

फरीदाबाद: युवाओं की लगन और मेहनत से बदली गढ़खेड़ा राजकीय स्कूल की तस्वीर

फरीदाबाद, 29 दिसंबर। मन में कुछ करने का जज्बा और जुनून हो तो कुछ भी असंभव नहीं है। ऐसा ही कर दिखाया है गाँव गढ़खेड़ा के युवाओं ने, जिन्होंने बिना सरकारी मदद से अपने सरकारी स्कूल की तस्वीर और तकदीर दोनों ही बदल दी है। अब गढ़खेड़ा का यह सरकारी स्कूल निजी स्कूलों को मात देने के लिए तैयार है।

बृहस्पतिवार को गाँव गढ़खेड़ा स्थित राजकीय उच्च विद्यालय के सौंदर्यीकरण और नवीनीकरण कार्य के पूरा होने के बाद आयोजित आभार एवं उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल ने की, जबकि एफआईए के पूर्व अध्यक्ष बीआर भाटिया विशिष्ट अतिथि थे। कार्यक्रम में स्कूली अध्यापकों और बच्चों के अलावा बड़ी संख्या में बच्चों के अभिभावक तथा पंचायत, स्कूल प्रबंधन समिति के सदस्यों ने हिस्सा लिया और स्कूल में उपलब्ध सुविधाओं और नवीनीकरण पर प्रसन्नता प्रकट की।
ग्रामीणों ने एफआईए चैरिटेबल सोसाइटी का तहेदिल से स्वागत किया। नवीनीकरण समारोह में बड़ी संख्या में उपस्थित महिलाओं को देखकर एफआईए के पूर्व अध्यक्ष बीआर भाटिया ने कहा कि बच्चों की शिक्षा के प्रति महिलाओं की उत्सुकता और भागीदारी इस बात का संकेत है कि ग्रामीण महिलाएं अपने बच्चों की शिक्षा के प्रति काफी जागरूक हैं और बच्चों की शिक्षा के प्रति अधिक सचेत हैं। आज भी 21वी सदी के भारत में ऐसे कई गांव है जहां स्कूलों में शिक्षा की दशा व दिशा सुधारने और उनमें गुणवत्ता बढ़ाने की आवश्यकता है। इसी उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए एफआईए चैरिटेबल सोसाइटी के तहत विकास, जल संरक्षण व स्कूल नवीनीकरण का कार्य कर रही है। कार्यक्रम अध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि हमारा उदेशय ग्रामीण भारत के स्कूलों में सकरात्मक परिवर्तन करना ताकि बच्चों को पढ़ाई के लिए बेहतर और सुरक्षित सीखने का माहौल मिल सके।
सौंदर्यीकरण एवं नवीनीकरण परियोजना के अंतर्गत स्कूल में कई सुधार किए गए हैं, जिसमें स्कूल में लड़कियों और लड़कों के लिए अलग-अलग शौचालयों की व्यवस्था, कमरों और पीने के पानी की सुविधा शामिल है। साथ ही फुटपाथ, वृक्षारोपण और परिसर का सौंदर्यीकरण, स्कूल की इमारत की सफेदी, दीवारों पर शैक्षिक संदेश के बहुत सारे नारे बच्चों को प्रोत्साहित करने के लियें स्कूल के परिसर में लिखे गए है। स्कूल नवीनीकरण से स्कूल में सुरक्षित एवं समुचित माहौल को देखकर गाँव में एक नयी उमंग एवं उत्साह देखने को मिला है और स्कूल प्रशासन भी यह आशा रखता है कि अधिक से अधिक बच्चे नामांकित होंगें व शिक्षा का लाभ उठाएँगें। कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत मास्टर खेमचंद और धन्यवाद ज्ञापन स्कूल मुख्याध्यापक विमल कुमार ने किया, जबकि मंच संचालन सुरेश शास्त्री ने किया।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के मीडिया समन्वयक मुकेश वशिष्ठ, सरपंच नीलम सैनी, यशवीर सिंह, प्रताप सांगवान, मास्टर प्रेमचंद, नेत्रपाल, डालचंद कालीरमण, मंगल सिंह, ओमप्रकाश सांगवान, श्रीचंद, विवेक सैनी, रामपाल लोर, नवल सिंह, पंच जनक कालीरमण, सरजीत सिंह, कुमारी मीनाक्षी और पंडित शिवराम मौजूद थे।
Advertisement

Related posts

बेटियां सिर्फ खाना पकाने व चौका चूल्हा तक सीमित नहीं,लिख रही है कामयाबी की दास्तान

Nationalist Bharat Bureau

BEST WAY TO BE HAPPY:ख़ुश रहने के कुछ तऱीके जो आज ही आज़माएँ

प्रेमचंद के मज़ीद नाविल और अफ़्सानों का अरबी में तर्जुमा किया जाये:प्रोफ़ैसर असदउद्दीन

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment