Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

Rajeev Ranjan Resign From BJP : बिहार में भाजपा को झटका, राजीव रंजन ने पार्टी-पद से दिया इस्तीफा

पटना: बड़ी खबर बिहार से निकल कर सामने आई है जब भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने पड़ और पार्टी से त्यागपत्र दे दिया।बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक राजीव रंजन ने शुक्रवार को पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। भाजपा के लिए यह एक बड़ा झटका माना जा रहा है।रंजन ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल को लिखे एक पत्र में कहा कि भाजपा आज प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की नीतियों व आदशरें से पूरी तरह भटक चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमन्त्री के ‘सबका साथ-सबका विकास’ की बात केवल कहने तक ही सीमित हो चुकी है। आज पार्टी में पिछड़ा, अतिपिछड़ा व दलित समाज के विरोधी तत्व हावी हो चुके हैं।उन्होंने आरोप लगाया कि जो नेता पिछड़े समाज के नहीं है वह भी इस समाज के नाम पर दशकों से सत्ता सुख भोग रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी का एजेंडा सिर्फ और सिर्फ पटना तक ही सीमित रह गया है।भविष्य में किसी पार्टी में जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अभी तय नहीं है, आगे देखते हैं क्या होता है।वैसे, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नजदीकी माने जाने वाले राजीव रंजन के जदयू में शामिल होने की चर्चा है। रंजन जदयू छोड़कर ही भाजपा में आए थे।

भाजपा से निलंबित

Advertisement

बिहार बीजेपी के उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक राजीव रंजन को अगले छह साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। उन पार्टी विरोधी गतिविधियां करने का आरोप लगा था। जबकि उन्होंने इससे पहले अपना इस्तीफा दे दिया था।

राजीव रंजन बोले 
बिहार भाजपा को बड़ा झटका लगा है. पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और बिहार भाजपा के प्रवक्ता व मीडिया विभाग का प्रभारी राजीव रंजन ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. इस्लामपुर के पूर्व विधायक राजीव रंजन इससे पहले जदयू में थे. राजीव रंजन ने प्रदेश अध्यक्ष को भेजे अपने त्याग पत्र में लिखा है कि मैं पार्टी के पद और सदस्यता से अपना त्यागपत्र देता हूं. साथ ही आपसे अनुरोध है कि इस त्यागपत्र को स्वीकार कर मुझे पार्टी प्रदत दायित्वों से मुक्त करें.

Advertisement

पत्र में निकाली भड़ास
पत्र में राजीव रंजन ने लिखा है कि बिहार बीजेपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदर्शों से पूरी तरह भटक चुकी है. प्रधानमंत्री के ‘सबका साथ-सबका विकास’ की बात केवल कथनी में रह गई है. आज पार्टी में पिछड़ा/अतिपिछड़ा व दलित समाज के विरोधी तत्व हावी हो चुके हैं. हालात यह है कि जो नेता पिछड़े समाज के नहीं है वह भी इस समाज के नाम पर दशकों से सत्ता सुख भोग रहे हैं.

पहले आई थी निलंबन की खबर
इसके पहले खबर आई थी कि भारतीय जनता पार्टी ने बिहार में पार्टी उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक राजीव रंजन पर बड़ी कार्रवाई की है. पार्टी से उन्हें छह साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. उन्हें पार्टी लाइन से इतर बयानबाजी करने के कारण निलंबित किया गया है.प्रदेश अध्यक्ष ने संजय जायसवाल ने कहा कि पार्टी की रीत-नीति के खिलाफ बयान देने को लेकर पहले भी राजीव रंजन को चेतावनी दी गई थी. लेकिन उन्होंने अपने रवैये में सुधार नहीं किया. ऐसे में पार्टी रीति-नीति के खिलाफ बयानबाजी करने को लेकर राजीव रंजन को भाजपा से तत्काल प्रभाव से छह वर्षों के लिए निलंबित कर दिया गया है.

Advertisement

Related posts

पंचायत राज पदाधिकारी को दी गयी विदाई

Bank Privatisation: SBI के इलावा सभी सरकारी बैंकों के निजीकरण की सलाह

जयपुर:गुस्से,अनुशाशन और देशभक्ति के साथ सामूहिक हनुमान चालीसा

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment