Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली में कड़ाके की ठंड, एनसीआर में कोहरा, पालम में दृश्यता घटी

देश की राजधानी दिल्ली में शीतलहर के साथ घने कोहरे ने कहर मचा के रखा है। दिल्ली-एनसीआर 27 दिसंबर को घने कोहरे की चपेट में है। कोहरे के कारण सड़कों पर वाहनों की रफ्तार भी धीमी हो गई है। मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि अगले 2 दिन शीतलहर चलेगी और ठंड से कोई राहत नहीं मिलेगी।

सुबह दिल्ली के पालम और सफदरजंग में दृश्यता 50 मीटर, राजस्थान के गंगानगर में 25 मीटर, चूरू में 50 मीटर, उत्तर प्रदेश के बरेली में 25 मीटर और आगरा व बहराइच में 200 मीटर से कम रही। हालांकि कल के मुकाबले आज उत्तर भारत के ज्यादातर स्टेशनों पर न्यूनतम तापमान में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जबकि पंजाब और हरियाणा के कुछ इलाकों में भी मामूली कमी देखी गई।

Advertisement

यूपी के कई इलाके भी घने कोहरे की चपेट में हैं। वहीं जहां तक ​​तापमान की बात है तो पालम में न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस, आयानगर में 4 डिग्री और रिज में 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली समेत उत्तर भारत के ज्यादातर राज्य अगले दो दिनों तक शीतलहर की चपेट में रहेंगे। दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्सों में घने कोहरे के कारण दृश्यता बहुत कम रही।

Advertisement

बठिंडा, पंजाब में सुबह 5.30 बजे शून्य दृश्यता दर्ज की गई। जबकि अमृतसर और पटियाला में दृश्यता 50 मीटर रही। इसके अलावा हरियाणा के हिसार, चंडीगढ़ और अंबाला में दृश्यता केवल 25 मीटर दर्ज की गई।

दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में लोग ठंड से बचने के लिए सुबह के समय आग जलाके खुद को गर्म करते नजर आए। मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में आज अधिकतम तापमान 17 डिग्री रहने की संभावना है। आज भी मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में सर्द हवाओं के साथ न्यूनतम तापमान में गिरावट का अनुमान जताया है।

Advertisement

सुबह कोहरे और शीतलहर के बीच दिल्ली-एनसीआर में दृश्यता घटकर 100 मीटर रह गई। उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों में कोहरे के कारण दिल्ली जाने वाली कई ट्रेनें भी अपने निर्धारित समय से कई घंटे देरी से चल रही हैं। हालांकि, दिल्ली हवाईअड्डे पर विमानों का परिचालन अब भी सामान्य है।

आईएमडी के पूर्वानुमान के अनुसार, दिल्ली में अगले तीन दिनों तक मध्यम कोहरा रहेगा। इसके साथ ही तापमान में मामूली बढ़ोतरी भी देखी जा सकती है। 28 दिसंबर से 31 दिसंबर तक न्यूनतम तापमान 6 डिग्री और अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहता है। आईएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पहाड़ों पर बर्फबारी के साथ नए साल में सर्दी और बढ़ने की संभावना है।

Advertisement

Related posts

भारत में बुलडोज़र की सवारी करने वाले बोरिस जॉनसन की कुर्सी गयी

Nationalist Bharat Bureau

पुरानी पेंशन योजना लागू कराने हेतु हस्ताक्षर अभियान

Nationalist Bharat Bureau

Bihar Politics:जगदानंद सिंह के राजद प्रदेश अध्यक्ष फिर से बनने का राज़ क्या है ?

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment