Nationalist Bharat
राजनीति

फडणवीस खुद को ‘समंदर’ बताते थे गुजरात वालों ने ‘तालाब’ बनने को मजबूर कर दिया,सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए देवेंद्र

नई दिल्ली:लंबी खींचतान के बाद और शिवसेना के बागी विधायकों के गुजरात होते हुए आसाम जाकर सियासत करने के बाद आखिरकार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इस्तीफा देना पड़ा और गुरुवार 30 जून को शिवसेना बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कमान सौंप दी गई। क्या लगाए जा रहे थे कि राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को राज्य की कमान सौंपी जाएगी लेकिन ऐन वक्त पर भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व जैसे प्रधानमंत्री मोदी गृह मंत्री अमित शाह और और जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा इत्यादि के निर्णय के आलोक में देवेंद्र फडणवीस को एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र की भा ज पा और शिवसेना बागी गुट की सरकार में उप मुख्यमंत्री का पद दिया गया है। पदों का का बंटवारा आपसी तालमेल और बातचीत के द्वारा किया जाता है जाहिर है इस मामले में भी बातचीत के द्वारा इसका निर्णय लिया गया की महाराष्ट्र की नई सरकार का मुखिया शिवसेना बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे को बनाया जाए इसीलिए इसमें कोई चौंकाने वाली बात नहीं होनी चाहिए लेकिन सबसे चौंकाने वाली बात जो निकलकर सामने आई मुझे ठीक है 5 सालों तक महाराष्ट्र की सरकार चलाने वाले उसके मुखिया देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री ने बना कर उप मुख्यमंत्री बना दिया गया। इस ख़बर के आते ही सोशल मीडिया में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मजाक का पात्र बन गए।

Advertisement

क्या कहा था देवेंद्र फडणवीस ने
यह मजाक दरअसल उनके ढाई साल पहले दिए दिए गए बयान और ट्वीट को लेकर किया जाने लगा।दिसंबर 2019 में जब महाराष्ट्र विधानसभा का सत्र चल रहा था तो महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने अपने दिल का दर्द शायराना अंदाज में बयां करते हुए कहा ‘मेरा पानी उतरते देख, मेरे किनारे पर घर मत बना लेना. मैं समन्दर हूं, लौट कर जरूर आऊंगा.’

 

Advertisement

 

सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया
अब उनका यह ट्वीट सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल होगया।अब उस ट्वीट पर लोग मज़े ले रहे हैं।
सोशल मीडिया पर एक यूजर ने लिखा कि फडणवीस खुद को ‘समंदर’ बताते थे ,गुजरात वालों ने ‘तालाब’ बनने को मजबूर कर दिया।एक यूजर ने लिखा कि महाराष्ट्र में “देवेंद्र फडणनवीस” 12वीं के बाद इंटर कर रहे हैं..! बधाई हो ।
एक यूजर ने लिखा कि शिव सैनिकों से डर का फायदा शिंदे को मिला। बेचारे फड़नवीस दयापात्र।एक यूजर ने लिखा कि आप ने साबित किया अग्निवीर योजना सही है सही बात है फडणवीस जीआदर्श की राजनीति को आगे बढ़ाएं हैं।एक यूजर ने लिखा कि पांच शाल मुख्यमंत्री रहने वाला व्यक्ति ढाई शाल के लिये उपमुख्यमंत्री बना है। मतलब बि ए करके मैट्रिक कर रहा है।एक यूजर ने लिखा कि जब उप लेकर ही चुप होना था तो ढाई शाल पहले ही ले लेते इतना दिन रुकने की क्या जरुरत थी।चपरासी कलेक्टर बन सकता है कोई आश्चर्य की बात नहीं, लेकिन एक कलेक्टर आज चपरासी बन गया आज पहली बार देख रहा हूँ!

Advertisement

 

 

Advertisement

सपोर्ट में आये यूजर
हालांकि एक ने देवेंद्र फडणवीस का सपोर्ट करते हुए लिखा कि महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री का पद संभालने पर देवेन्द्र फडनवीस जी को हार्दिक शुभकामनाएं. सबसे बड़ी पार्टी के नेता की हैसियत से आपने जिस तरह अपने बड़े दिल का परिचय दिया है, उसे महाराष्ट्र के इतिहास में हमेशा याद किया जाएगा.

Advertisement

Related posts

नीतीश कुमार की चुप्पी और बिहार की सियासत

ओबीसी आरक्षण पर बोले शिवपाल, दो ढाई साल पहले बनना चाहिए था आयोग

नीतीश कुमार रातभर जागकर सेकुलरिज्म की रक्षा करते हैं !

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment