Nationalist Bharat
विविध

Ganga Vilas: काशी से शुरू होगी दुनिया की सबसे लंबी और रोमांचक रिवर क्रूज यात्रा,बिहार के बक्सर और पटना से होकर गुज़रेगी

World’s longest river cruise from Varanasi to Assam via Bangladesh to start from January 2023: राष्ट्रीय जलमार्ग-1 एक बार फिर पर्यटकों की गतिविधियों से गुलजार होने वाला है। प्रयागराज-हल्दिया जलमार्ग से होते हुए करीब 3200 किलोमीटर दूरी तय करने वाली दुनिया की सबसे लंबी और रोमांचक रिवर क्रूज यात्रा अगले महीने शुरू होने वाली है। करीब 50 दिनों की इस यात्रा का साक्षी बक्सर भी बनेगा। वाराणसी से शुरू होने वाली यह यात्रा केवल भारत ही नहीं, बल्कि बांग्लादेश की नदियों से भी होकर गुजरेगी। गंगा के तट से शुरू होने के बाद 27 नदियों से होकर गुजरने वाली यह यात्रा ब्रह्मपुत्र के किनारे बसे पूर्वोत्तर भारत के शहर डिब्रुगढ़ तक जाएगी। बिहार में इस यात्रा का पहला पड़ाव बक्सर ही होगा।

काशी से दुनिया की सबसे लंबी रिवर क्रूज यात्रा 10 जनवरी 2023 से वाराणसी से शुरू होगी। वाराणसी से डिब्रूगढ़ तक का सफर करीब 52 दिनों में तय होगा। 52 दिनों की यह यात्रा भारत व बांग्लादेश के 27 रिवर सिस्टम से होकर गुजरेगी तथा 50 से अधिक अहम जगहों पर रुकेगी, जिनमें विश्व विरासत स्थल भी शामिल हैं।यह जलायन राष्ट्रीय उद्यानों एवं अभ्यारण्य से भी गुजरेगा, जिनमें सुंदरबन डेल्टा और काजीरंगा नेशनल पार्क भी शामिल हैं। लंबी यात्रा उबाऊ न हो, इसलिए क्रूज पर गीत संगीत, सांस्कृतिक कार्यक्रम, जिम आदि सुविधाएं होंगी। भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के मुख्य अभियंता रविकांत ने बताया कि गंगा विलास भारत में निर्मित पहला जलयान है। यह आधुनिक सुविधाओं से युक्त और पूरी तरह सुरक्षित है। क्रूज 80 पर्यटकों को लेकर 32 सौ किलोमीटर की यात्रा 52 दिनों में पूरा करेगा।

World’s longest river cruise from Varanasi to Assam via Bangladesh to start from January 2023

मुर्शिदाबाद होते हुए पश्चिम बंगाल में दाखिल होगी
बिहार में बक्सर के अलावा यह यात्रा सारण के डोरीगंज और चिरांद, पटना, मोकामा, बेगूसराय के सिमरिया, मुंगेर, सुल्तानगंज, बटेश्वरस्थान होते हुए मुर्शिदाबाद होते हुए पश्चिम बंगाल में दाखिल होगी। इसके बाद ढाका और गुवाहाटी होते हुए डिब्रुगढ़ पहुंचेगी। इस टूर पैकेज की शुरुआत यूं तो 10 जनवरी से होगी, लेकिन रिवर क्रूज 13 जनवरी को वाराणसी से प्रस्थान करेगा। इन तीन जिलों में पर्यटक वाराणसी के ही अलग-अलग स्थलों की सैर करेंगे। बक्सर में क्रूज का आगमन 14 जनवरी को होगा। 15 को डोरीगंज, 16 को पटना में यात्रा का पड़ाव होगा। पटना में पर्यटकों को भ्रमण का पूरा मौका मिलेगा। यहां से यात्रा 18 जनवरी को आगे के लिए प्रस्थान करेगी। 19 को सिमरिया, 20 को मुंगेर, 21 को सुल्तानगंज में यात्रा का पड़ाव होगा।

World’s longest river cruise from Varanasi to Assam via Bangladesh to start from January 2023

65 मीटर लंबे गंगा विलास से होगी यात्रा 
यह यात्रा 65 मीटर लंबे रिवर क्रूज गंगा विलास से होगी। यह शिप गंगा में हाल के दिनों में गुजरने वाले दूसरे परिवहन यानों की अपेक्षा बड़ा और काफी आलीशान है। इसकी चौड़ाई लगभग 13 मीटर है। इसे भारत में बना सबसे बड़ा रिवर शिप बताया जा रहा है। इसमें पर्यटकों के लिए बेहतरीन सुइट, बाथरूम, शावर, कनवर्टिबल बेड, फ्रेंच बॉलकनी, एलईडी टीवी, सेफ समेत आधुनिक जीवन रक्षक प्रणाली भी होगी। ट्रिप में 40 सीट वाले रेस्टोरेंट की व्यवस्था है। इसमें सन डेक और स्पा भी है। यहां बफे में कॉन्टीनेंटल और इंडियन डिशेज सर्व की जाएंगी।

World’s longest river cruise from Varanasi to Assam via Bangladesh to start from January 2023

तमाम निर्धारित पड़ावों से यह शिप दो बार गुजरेगी
बक्सर सहित बिहार के तमाम निर्धारित पड़ावों से यह शिप दो बार गुजरेगी। दरअसल, इस यात्रा की शुरुआत भले वाराणसी से होनी है, लेकिन गंगा विलास शिप का बेस कोलकाता में है। यात्रा शुरू करने के लिए कोलकाता से यह शिप वाराणसी के लिए रवाना हो चुकी है। एक जनवरी को इसे पटना और चार जनवरी को बक्सर पहुंचना है। इसके लिए इस यात्रा को आयोजित करने वाली कंपनी हेरिटेज रिवर जर्नी प्राइवेट लिमिटेड ने भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण को सभी संबंधित पड़ावों पर जेटी की व्यवस्था करने के लिए पत्र लिखा है।
Advertisement

Related posts

समापन की ओर अग्रसर बिहार सरस मेला,जम कर ख़रीदारी कर रहे हैं लोग

Nationalist Bharat Bureau

बेहराम ठग : पीले रुमाल से गला घोंटकर की सैकड़ो हत्याए

नंगे हो जाना ही मॉर्डन होने की पहचान है

Nationalist Bharat Bureau

Leave a Comment