Nationalist Bharat
ब्रेकिंग न्यूज़

अब कुछ ऐसा करो की सांस लेना भी महंगाई की श्रेणि मे आ जाए

नई दिल्ली:पेट्रोल डीजल और निम्बू प्याज़ की आसमान छूती कीमतें और महंगाई से कराह रही आम जनता को फिर महंगाई का झटका लगा है।पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर के बाद साबुन और सर्फ महंगे हो गए हैं।लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) ने साबुन और सर्फ की कीमतों में इजाफा कर दिया है। FMCG कंपनी ने कीमतों में 20 फीसदी तक का इजाफा कर दिया है।बता दें व्हील, रिन, लाइफबॉय समेत कई साबुन की कीमतों में इजाफा हो गया है।
इस महंगाई पर सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है।सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर लोगों अपनी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केंद की मोदी सरकार को निशाने पर लिया है और अपने गुस्से का इज़हार किया है।फेसबुक पर सुधीर पांडेय नामक यूजर के लिखा कि वाह मोदी जी वाह,अब कुछ ऐसा करो की सांस लेना भी महंगाई की श्रेणि मे आ जाए।इर्तज़ा खान ने लिखा कि राष्ट्रनिर्माण के लिए विश्व गुरु बनाने के लिए बहुत ही आवश्यक है मंहगाई ।मित्रों अगर फिर भी जिन्हें मंहगाई से तकलीफ़ हो रही है वह लोग श्री लंका चले जाएं।यहां सिर्फ देशभक्त एवं राष्ट्रवादी लोग रहेंगे मित्रों।सिट्टू सिंह नामक यूजर ने लिखा कि एक भी चीज मत छोड़ो।अगर कोई सामान महंगाई में जोड़ने के लिए भूल जाओ तो भारत की सारी जनता मिल के याद दिला देगा।महंगाई बढ़ाने में हम लोगों का पूरा साथ रहेगा। जैसे कि पेट्रोल 500/L,डीजल 499/L,गैस सिलेंडर 2500 रु,सरसों तेल 775 रु,सारे सामन कम से कम 500 रु के ऊपर होना चाइए। इससे नीचे में खरीदने में शर्म फील होता है। क्योंकि भारत दुनिया का सबसे रिच देश बन गया है।प्रदीप मालिक ने लिखा कि अज़ान ओर हनुमान चालीसा में उलझाए हुए हैं मुर्ख जनता को ओर महंगाई, बेरोज़गारी, शिक्षा पर तो कभी कोई बात ही नहीं होती है।सोनू शेखर कहते हैं कि महाभारत के ध्रतराष्ट्र और मोदी जी में बहुत समानता है। एक ने पुत्र मोह में देश और कुनबा खत्म किया था और एक अडानी, अंबानी मोह में देश खत्म करने पर तुला है

Advertisement

Related posts

सड़क से सदन तक अपनी आवाज़ बुलंद करने के लिए जनतादल सेक्युलर को कामयाब बनाएं:डॉक्टर फ़ज़ल अहमद

वर्षा का पानी का संचयन समय की जरुरत है : ज्ञान रंजन

भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के नेता आशुतोष कुमार को जान का ख़तरा, जानिए कौन हैं वो लोग जो….

Leave a Comment